WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Increased: किसानों की खुशी! प्रधानमंत्री किसान में ₹8000, गेहूं का MSP ₹2500

राजस्थान की वित्त मंत्री दीया कुमारी ने ऐतिहासिक बजट पेश करते हुए राज्य की ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के उद्देश्य से विभिन्न कृषि योजनाओं में महत्वपूर्ण वृद्धि का खुलासा किया।

Pradhan Mmantri Kisan Samman Nidhi Increased
Pradhan Mmantri Kisan Samman Nidhi Increased

बजट का मुख्य आकर्षण प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के बारे में घोषणा थी, जिसके तहत इस पहल के तहत प्रति परिवार वार्षिक वित्तीय सहायता ₹6000 से बढ़ाकर ₹8000 कर दी गई है।

इसके अतिरिक्त, गेहूं के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) को बढ़ाकर ₹2500 प्रति क्विंटल कर दिया गया है, जो चुनौतीपूर्ण कृषि परिस्थितियों के बीच किसानों का समर्थन करने की मजबूत प्रतिबद्धता का संकेत देता है।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का विस्तार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में, किसान सम्मान निधि योजना पूरे भारत में किसानों के लिए वित्तीय सहायता का आधार रही है।

राजस्थान की राज्य सरकार द्वारा हाल ही में प्रति परिवार वार्षिक वित्तीय सहायता को ₹6000 से बढ़ाकर ₹8000 करने का संशोधन कृषि समुदाय के उत्थान के लिए उनकी प्रतिबद्धता को रेखांकित करता है।

इस कदम से ग्रामीण परिवारों में पर्याप्त आर्थिक प्रोत्साहन मिलने की उम्मीद है, जिससे कृषि क्षेत्र में सतत विकास और स्थिरता को बढ़ावा मिलेगा।

राजस्थान कृषि इंफ्रा मिशन के माध्यम से कृषि बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देना

राजस्थान की अर्थव्यवस्था में कृषि की महत्वपूर्ण भूमिका को देखते हुए, राज्य सरकार ने ₹2000 करोड़ के शुरुआती प्रावधान के साथ राजस्थान कृषि अवसंरचना मिशन की शुरुआत की है।

इस महत्वाकांक्षी मिशन का उद्देश्य राज्य के कृषि अवसंरचना को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाना है, जिसमें 20,000 कृषि तालाबों की स्थापना, 10,000 किलोमीटर सिंचाई पाइपलाइनों की स्थापना और किसानों के लिए 50,000 पक्की सड़कें बनाना शामिल है।

इसके अलावा, ड्रोन जैसी आधुनिक तकनीकों से लैस 500 कस्टम हायरिंग सेंटर स्थापित करने जैसी पहल राज्य में कृषि पद्धतियों में क्रांति लाने के लिए तैयार हैं।

फसल विविधीकरण और बाजरा उत्पादन के माध्यम से किसानों को सशक्त बनाना

राजस्थान को लंबे समय से बाजरे के अपने मजबूत उत्पादन के लिए जाना जाता है, यह एक ऐसी फसल है जिसे माननीय प्रधानमंत्री ने “श्री खान” पहल के तहत बढ़ावा दिया है।

बाजरा उत्पादन को बढ़ाने के लिए राज्य की प्रतिबद्धता का उद्देश्य न केवल राष्ट्रीय स्तर पर अपनी अग्रणी स्थिति को मजबूत करना है, बल्कि ग्रामीण परिवारों की आहार संबंधी आवश्यकताओं को भी पूरा करना है।

आगामी वर्ष में 12 लाख किसानों को मक्का, 8 लाख किसानों को बाजरा, 7 लाख किसानों को सरसों, 4 लाख किसानों को मूंग और उड़द तथा 1 लाख किसानों को मोती और ज्वार के उच्च गुणवत्ता वाले बीज वितरित करने की योजना है, जिससे उनकी कृषि उत्पादकता में उल्लेखनीय वृद्धि होगी।

डेयरी उत्पादन और आजीविका को मजबूत करना

कृषि के अलावा, डेयरी उत्पादन राजस्थान में ग्रामीण परिवारों की आजीविका का अभिन्न अंग बना हुआ है राज्य सरकार की पहल में डेयरी शेड की स्थापना, डेयरी, चारा और खाद से संबंधित उपकरणों की खरीद और गोपाल क्रेडिट कार्ड (जीसीसी) योजना के तहत ₹1 लाख तक का ब्याज मुक्त अल्पकालिक ऋण प्रदान करना शामिल है।

इस समग्र दृष्टिकोण का उद्देश्य न केवल डेयरी फार्मिंग को बढ़ावा देना है, बल्कि इस क्षेत्र में लगे परिवारों का कल्याण सुनिश्चित करना भी है, जो सतत ग्रामीण विकास के लिए सरकार की प्रतिबद्धता के अनुरूप है।

युवा सशक्तिकरण एवं रोजगार के अवसर

ग्रामीण क्षेत्रों में युवाओं के सामने आने वाली चुनौतियों को समझते हुए, राजस्थान सरकार उन्हें स्थिर रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए समर्पित है कौशल विकास कार्यक्रम, उद्यमिता सहायता और नए रोजगार के अवसरों के सृजन जैसी पहलों को राज्य भर में बेरोजगारी को कम करने और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए प्राथमिकता दी जाती है।

युवाओं को आवश्यक कौशल और संसाधनों से सशक्त बनाकर, सरकार का लक्ष्य असुरक्षा और तनाव को कम करना है, जिससे सतत विकास के लिए अनुकूल वातावरण तैयार हो सके।

Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Increased

आगामी वर्ष में सरकार युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए लगभग 70,000 पदों पर भर्ती करने की घोषणा करती है। इसके अतिरिक्त, राज्य के सभी क्षेत्रों में जिला मुख्यालयों पर युवा साथी केंद्र स्थापित करने की योजना प्रस्तावित है, जिसका उद्देश्य युवाओं को निजी क्षेत्र में सफल करियर बनाने के लिए परामर्श और मार्गदर्शन प्रदान करना है। इस पहल के क्रियान्वयन के लिए ₹10 करोड़ का बजट रखा गया है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

नमस्कार दोस्तों! मुझे पत्रकारिता के क्षेत्र में काम करने का 8 साल का अनुभव है। एक प्रतिष्ठित समाचार पत्र में काम करने के अलावा, मैंने एक न्यूज़ पोर्टल में भी 3 साल तक काम किया है, जहाँ मैंने शिक्षा, अपराध, राजनीति, व्यापार, ऑटोमोबाइल, गैजेट और मनोरंजन जैसे विषयों को कवर किया है। अब, मैं तेज़ी से उभरती हुई वेबसाइट GovtVacancyHub.Com पर काम कर रहा हूँ। मैं राजस्थान के एक छोटे से गाँव से हूँ जहाँ मैंने अपनी 10वीं कक्षा तक की शिक्षा पूरी की। बाद में, मैं शहर चला गया जहाँ मैंने अपनी 12वीं कक्षा पूरी की। मैंने अपनी कॉलेज की शिक्षा राजस्थान विश्वविद्यालय से प्राप्त की, जो उत्तर भारत का सबसे बड़ा सरकारी कॉलेज है। हमारा उद्देश्य लोगों तक तथ्यों के साथ सटीक समाचार पहुँचाना है।

Leave a Comment